Call for Free Consultancy: 0294-2980185/6
87640 21693
Mon. to Sat. - 9 AM to 6 PM
Health benefits of karela (bitter gourd) in Diabetes and many Diseases, मधुमेह और कई रोगों में करेला के स्वास्थ्य लाभ

karela is also called as Bitter melon. Karela is generally a vegetable, but it also has medicinal importance. Karela is beneficial in diabetes, especially in controlling blood glucose & insulin, blood disorders, skin diseases, body toxins, Cholera, respiratory diseases, ulcer, liver diseases like Jaundice & Hepatitis; Psoriasis, immunity disorders and digestive problems.

करेला को बिटर तरबूज भी कहा जाता है। करेला आमतौर पर एक सब्जी है, लेकिन इसका औषधीय महत्व भी है। करेला मधुमेह में लाभकारी है, विशेष रूप से रक्त शर्करा और इंसुलिन, रक्त विकार, त्वचा रोग, शरीर के विषाक्त पदार्थों, हैजा, सांस की बीमारियों, अल्सर, यकृत के रोगों जैसे पीलिया और हेपेटाइटिस को नियंत्रित करने में; सोरायसिस, प्रतिरक्षा विकार और पाचन संबंधी समस्याएं।

Karela is widely used for diabetes, it works in diabetes mellitus by acting on insulin resistance, controlling glucose level and increasing insulin update into the cells.

करेला मधुमेह के लिए व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है, यह मधुमेह मेलेटस में इंसुलिन प्रतिरोध पर काम करके, ग्लूकोज स्तर को नियंत्रित करने और कोशिकाओं में इंसुलिन अपडेट को बढ़ाने का काम करता है।

There are some synonyms of karela: Bitter gourd, Momordica Charantia, Karavella (in Sanskrit), Goya, Bitter squash, Bitter melon.

करेला के कुछ पर्यायवाची शब्द हैं अर्थात् करेला को इन नामों से भी जाना जाता है: बिटर गॉर्ड, मोमोर्डिका चरंतिआ, करावेला (संस्कृत में), गोया, बिटर स्क्वाश, बिटर मेलों|

करेला का उपयोग मधुमेह, त्वचा संबंधी विकार, घाव में होने वाले संक्रमण को रोकना एवं ठीक करना, जलन से राहत, पाचन शक्ति को मजबूत करना, स्वाद में कमी से जुड़ी समस्याओं में, पित्त दोष एवं काफा दोष से संबंधित विभिन्न समस्याओं एवं रोगो में, कृमि संक्रमण, रक्त को शुद्ध करने, कब्ज के लिए अत्यंत ही उपयोगी, सूजन में राहत, मासिक धर्म की समस्या, स्तन के दूध को साफ करने के लिए, मोटापा कम करने, शरीर की अशुद्धियों को दूर करने; घावों एवं बवासीर; लिवर सम्बन्धी की समस्याओं में सहायक है, रक्त संबंधी समस्याओं में उपयोगी; खांसी, जुकाम, अस्थमा और पुरानी श्वसन समस्याओं में सहायक है|

करेला में कई प्रकार के बायोएक्टिव रसायन, विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में पाए जाते है विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन बी 1, बी 2 और बी 3 के साथ-साथ विटामिन बी 9 (फोलेट) की उच्च मात्रा होती है; करेला में कई प्रकार के खनिज जैसे पोटेशियम, कैल्शियम, जस्ता, मैग्नीशियम, फास्फोरस, और लोहा है। करेला फाइबर का भी अच्छा स्रोत है

Use of bitter gourd in various problems and diseases related to diabetes, skin disorders, preventing and correcting wound infections, relieving irritation, strengthening digestive power, problems related to taste loss, Pitta dosha and kapha dosha , Worm infection, purifying blood, extremely useful for constipation, relief in inflammation, menstrual problem, to clean breast milk, reduce obesity, remove toxins from body; Wounds and hemorrhoids; Helpful in liver problems, useful in blood related problems; Helps in cough, cold, asthma and chronic respiratory problems.

Bitter gourd is found in abundance in many types of bioactive chemicals, vitamins, minerals and antioxidants Vitamin C, Vitamin A, Vitamin E, Vitamin B1, B2 and B3 as well as high amounts of Vitamin B9 (Folate) it occurs; Bitter gourd contains many types of minerals such as potassium, calcium, zinc, magnesium, phosphorus, and iron. Bitter gourd is also a good source of fibre.

 

Bitter melon also possesses anti-microbial effect.

 

Reference:

https://en.wikipedia.org/wiki/Momordica_charantia#Alternative_names

Bitter-gourd-karela-benefits-remedies-research-side-effects: https://www.easyayurveda.com/2016/09/20/bitter-gourd-karela-benefits-remedies-research-side-effects/

Botanical Description of Bitter Melon or Bitter Gourd: https://www.theayurvedaexperience.com/blog/bitter-melon-benefits-side-effects/

Dravyaguna Vijnana by Aacharya Priyavrat Sharma, Volume 2, page no.684, Chaukhamba Bharati Academy, 2017

Bitter Melon and Diabetes: https://www.diabetes.co.uk/natural-therapies/bitter-melon.html

Dravyaguna Vijnana by Aacharya Priyavrat Sharma, Volume 2, page no.685, Chaukhamba Bharati Academy, 2017